India News 24×7 Online
उत्तराखण्ड राजनीति

चमोली आपदा के शिकार लोगो को मिलेगा 4-4 लाख का मुआवज़ा, अभी तक 10 लोगों के शव मिले, राहत कार्य जारी है।

उत्तराखंड के चमोली जिले में हिमखंड टूटने से नदियों में आयी बाढ़ से क्षतिग्रस्त एनटीपीसी की निर्माणाधीन 480 मेगावाट तपोवन—विष्णुगाड पनबिजली परियोजना की एक सुरंग में अभी 150 के करीब लोगों के फंसे होने की आशंका है. जबकि अभी तक 16 लोगों का रेस्क्यू हो चुका है, तो वहीं 10 लोगों के शव मिले हैं. इस बीच उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस आपदा में जान गंवाने लोगों के परिवार वालों को 4-4 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है.

इसके अलावा सीएम रावत ने कहा कि हमारी सेना के लोग वहां पहुंच गए हैं. एनडीआरएफ ( NDRF) की एक टीम दिल्ली से यहां पहुंची है. मेडिकल सुविधा की दृष्टि से वहां सेना, पैरामिलिट्री फोर्सेज और हमारे राज्य के डॉक्टर कैंप किए हुए हैं. जबकि हमने वहां का हवाई सर्वे किया. इसके बाद रेणी गांव जहां तक जाया जा सकता है, वहां तक रोड से जाकर जायजा लिया है.

इस बीच, एनटीपीसी के महाप्रबंधक आरपी अहीरवाल ने बताया कि निर्माणाधीन परियोजना को बाढ़ से बहुत नुकसान पहुंचा है. उन्होंने कहा कि हालांकि वास्तविक आकलन करने में अभी समय लगेगा लेकिन बाढ़ के पानी के बैराज के ऊपर से बह जाने के कारण वह काफी क्षतिग्रस्त हो गया है. यह परियोजना धौलीगंगा के उपर बन रही है. इसके अलावा, बाढ से बिजली उत्पादन कर रही 13.2 मेगावाट की ऋषिगंगा पनबिजली परियोजना भी पूरी तरह से खत्‍म हो गई है.

Advertisement

Related posts

भाजपा रानीखेत ने प्रदेश अध्यक्ष के जन्मदिन पर पौधरोपण कर दीर्घायु की कामना की।

India News 24x7 Online

आज सामने आये 199 नये कोरोना संक्रमित, अल्मोड़ा जिले के रानीखेत में आज केवल 01 मामला सामने आया, आज सबसे अधिक मामले देहरादून में मिले।

क्या खतरे में है उत्तराखंड सीएम की कुर्सी ? त्रिवेंद्र सिंह रावत दिल्ली तलब, पार्लियामेंट्री बोर्ड में होगा फैसला।

एक टिप्पणी छोड़ें